Skip to content

पेट में गैस हो तो क्या खाना चाहिए (Pet Me Gas Ho To Kya Khana Chahiye)


Published:
Updated:
image

पेट में गैस बनने की समस्या का सबसे बड़ा कारण खराब खानपान और लाइफस्टाइल है। पेट में गैस बनने की समस्या की वजह से हमारी निजी और सार्वजनिक जीवन नकारात्मक रूप से प्रभावित होती है। जंक फूड, अधिक तले हुए खाद्य पदार्थ, बासी भोजन, अत्यधिक मसालेदार आहार आदि के सेवन से पेट में गैस बनने की समस्या का जन्म हो जाता है। ऐसे में एक महत्वपूर्ण प्रश्न यह उठता है कि अगर पेट में गैस हो तो क्या खाना चाहिए?

अर्थात अगर हम पहले से ही गैस की समस्या से पीड़ित हैं तो किन खाद्य पदार्थों का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। अक्सर यह देखा गया है कि खराब खानपान और लाइफस्टाइल की वजह से लोगों का पेट खराब हो जाता है। तत्पश्चात भी वे सही खानपान का ध्यान नहीं रखते हैं जिससे स्तिथि काफी बिगड़ जाती है। पेट खराब होने की स्तिथि में अस्वास्थ्यकर भोजन करने से पेट फूलना, पेट दर्द, उल्टी, असहजता, शरीर में दर्द जैसी कई दिक्कतें हो सकती हैं। इसलिए सही भोजन का चुनाव करना आवश्यक हो जाता है।

पेट में अगर गैस बनने की समस्या है तो इसका एक बड़ा कारण आँतों का अस्वस्थ होना भी हो सकता है। आंत भोजन को पचाने और अवशोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और इसलिए इनके स्वास्थय को बनाये रखने के लिए आपको Gut Shuddhi का नियमित तौर पर सेवन करना चहिये। यह टेबलेट आपकी आँतों को स्वस्थ बनाता है जिससे समग्र पाचन स्वास्थ्य बेहतर बनता है। साथ ही यह भी पाया गया है कि जिन लोगों को अक्सर गैस की समस्या रहती है, उनके बाल भी तेजी से झड़ते हैं। अगर आपके बाल भी तेजी से झड रहे हैं तो आपको बिना देर किए Hair Test देना चाहिए जोकि मुफ्त है। टेस्ट की मदद से आप झाड़ते बालों की समस्या का सटीक कारण पता लगा सकते हैं ताकि सही उपचार की शुरुआत हो सके।


पेट में गैस हो तो क्या खाना चाहिए (Pet Me Gas Ho To Kya Khana Chahiye)

पेट में गैस हो तो आपको अदरक, पपीता, पुदीना, नाशपाती, दही, केला, ओटमील, हरी सेम, खीरा, नींबू, जामुन, संतरा और गाजर का सेवन करना चाहिए। इसके साथ ही, पेट में गैस की समस्या को शांत करने के लिए आप अदरक की चाय, नींबू पानी और साथ ही खूब सारा पानी का सेवन कर सकते हैं। 

1. अदरक (Ginger)

पेट में गैस हो तो अदरक का सेवन अधिकाधिक करना चाहिए। अदरक के सेवन से पाचन तंत्र में भोजन अधिक तेजी से आगे बढ़ता है। इससे पेट में गैस, पेट फूलना और पेट दर्द की समस्या से कुछ हद तक राहत मिलती है। साथ ही, अदरक में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं जिसका अर्थ है कि इसके सेवन से आंतों में जलन, सूजन और दर्द को कम किया जा सकता है जोकि कई बार गैस का कारण बनती है।

2. दही (Yogurt)

पेट में गैस बनने की समस्या से अगर आप परेशान हैं तो दही खाना फायदेमंद हो सकता है। इसके आमतौर पर दो कारण होते हैं, पहला कि इसमें भरपूर मात्रा में प्रोबायोटिक्स की मौजूदगी होती है और दूसरा कि इसमें लैक्टोस का स्तर कम होता है। अत्यधिक मात्रा में प्रोबायोटिक्स होने की वजह से आंतों में बैक्टीरिया का संतुलन बना रहता है जोकि स्वस्थ पाचन के लिए आवश्यक है। साथ ही, क्योंकि दही में लैक्टोज कम होता है, इसलिए लैक्टोज को न पचा सकने वाले लोग इसे बेहतर सहन कर सकते हैं, जिससे पेट में गैस के लक्षण कम हो जाते हैं।

3. केला (Bananas)

पढ़कर थोड़ा अजीब जरूर लग सकता है, लेकिन पेट में गैस बनने की समस्या हो तो केला खाना फायदेमंद होता है। दरअसल केले में पोटैशियम की प्रचुर मात्रा पाई जाती है जोकि एक इलेक्ट्रोलाइट है। यह हमारे शरीर में तरल पदार्थों को रेग्यूलेट करता है और साथ ही पेट फूलने की समस्या को कम कर सकता है। साथ ही, केले में फाइबर की मात्रा भी होती है जोकि पाचन क्रिया में सहायक भूमिका निभाता है। हालांकि ध्यान दें कि गैस की समस्या हो तो अधिकतम दो केले का सेवन ही करें।

4. पुदीना (Peppermint)

अगर सीने में जलन हो, अपच की समस्या हो या पेट में गैस हो, पुदीना का सेवन इन सभी स्वास्थ्य समस्याओं का निदान कर सकता है। इसका कारण है मेंथॉल, जोकि पुदीने में पाया जाता है और पाचन तंत्र में मौजूद मांशपेशियों को शांत करता है। जब ये मांसपेशियां शिथिल हो जाती हैं, तो यह गैस को आसानी से पारित करने की अनुमति देती है, जिससे सूजन और असुविधा की भावनाएं कम हो जाती हैं। इसके साथ ही, पुदीने को वातहर गुण से भी युक्त माना जाता है। पेट में गैस बनना वात दोषों के कारण होता है, जिसे खत्म करके यह गैस की समस्या से राहत दिला सकता है।

5. नींबू (Lemon)

पेट में गैस बनने की समस्या हो तो आपको नींबू का सेवन भी करना चाहिए। खासतौर पर आप नींबू पानी का सेवन कर सकते हैं जोकि गैस और पेट फूलने की समस्या से राहत दिला सकता है। नींबू के रस में मौजूद साइट्रिक एसिड पेट में एसिड के उत्पादन को उत्तेजित कर सकता है। इससे भोजन को सुचारू रूप से तोड़ने में मदद मिलती है। इसके साथ ही, पेट में गैस हो तो हाइड्रेटेड रहना भी जरूरी है जिसके लिए नींबू पानी एक बढ़िया तरीका भी है।

6. खीरा (Cucumber)

गर्मियों का मौसम चल रहा है और स्वाभाविक रूप से खीरे की खपत बढ़ रही होगी। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पेट में गैस होने की समस्या में खीरे का सेवन भी फायदेमंद हो सकता है? जी हां, अगर पेट में गैस या पेट फूलने की समस्या हो तो आपको खीरे का सेवन करना चाहिए। दरअसल अदरक की ही तरह खीरा भी एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से युक्त होता है जोकि आंतों और पाचन तंत्र की मांशपेशियों में सूजन, जलन और असहजता को दूर करता है। साथ ही, इसमें पोटैशियम भी प्रचुर मात्रा में होता है जोकि स्वस्थ पाचन में मदद करता है।

7. गाजर (Carrot)

अगर पेट में गैस की समस्या हो गई है तो आप सुबह सुबह गाजर का सेवन कर सकते हैं। इससे पेट में गैस की समस्या से राहत मिलेगी, पेट अच्छे से साफ होगा और पेट फूलने की दिक्कत भी दूर होगी। इसका कारण है फाइबर, एक पोषक तत्व जोकि गाजर में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। यह पाचन तंत्र में भोजन को ज्यादा बेहतर तरीके से आगे बढ़ने में मदद करता है। साथ ही, गाजर को Low-FODMAP वाला आहार भी माना जाता है, जिसका अर्थ है कि इसका सेवन करने पर शरीर को इसे पचाने में काफी आसानी होती है।

8. नाशपाती (Pineapple)

पेट में गैस हो तो नाशपाती का सेवन करना भी फायदेमंद माना जाता है। इसके सेवन से पेट अच्छी तरह से साफ होता है और साथ ही भोजन का पाचन भी अधिक सुचारू रूप से होता है। दरअसल नाशपाती में bromelain नामक एक एंजाइम पाया जाता है जो शरीर पर दो तरीके से कार्य करता है। पहला तो यह प्रोटीन को छोटे छोटे टुकड़ों में विभाजित करता है जिसे पचाना आसान होता है। साथ ही यह पाचन तंत्र पर एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण भी प्रदर्शित करता है जिससे आंत में सूजन, जलन और दर्द की समस्या दूर हो सकती है जोकि कई बार खराब पाचन स्वास्थ्य के कारण बनते हैं।

9. चावल (Rice)

पेट में गैस की समस्या होने पर क्या खाना चाहिए की सूची में चावल का नाम पढ़कर चौंकिए मत क्योंकि गेहूं या आलू के मुकाबले इसका सेवन ज्यादा बेहतर है। इसका कारण है चावल में मौजूद फाइबर जोकि भोजन को पचाने के साथ साथ मलत्याग को आसान बनाता है। साथ ही, चूंकि चावल में आम तौर पर किण्वित फाइबर कम होते हैं, इसलिए हमारे पाचन तंत्र के लिए इसे संसाधित करना आम तौर पर आसान होता है। चावल simple carbohydrates से भी युक्त होता है, जोकि पाचन तंत्र द्वारा आसानी से पचाया जा सकता है। 

10. पपीता (Papaya)

आसानी से उपलब्ध होने वाला पपीता भी पेट की गैस से आराम देने में मदद कर सकता है। अगर आप गैस की समस्या में इसका उचित मात्रा में सेवन करते हैं तो आप पाएंगे कि गैस, पेट फूलना और पेट दर्द की समस्या कम हुई है। पपीते में पपेन नामक एक पाचक एंजाइम होता है जो प्रोटीन को तोड़ता है। यह मददगार हो सकता है क्योंकि आंत में गैस बनने के पीछे अपाच्य प्रोटीन एक आम कारण है। प्रोटीन पाचन में सहायता करके, पपेन संभावित रूप से गैस और सूजन को कम कर सकता है।


पेट में गैस हो तो क्या पीना चाहिए (Pet Me Gas Ho To Kya Peena Chahiye)

अगर पेट में गैस होने की समस्या हो तो आपको ऐसे पेय पदार्थो का सेवन करना चाहिए जो हल्के हों और समस्या को दूर कर सकें। इसके लिए आप अदरक की चाय, नींबू पानी, पुदीने की चाय, नारियल पानी और ढेर सारा पानी पीना चाहिए। आइए विस्तार से जानते हैं कि ये पेय पदार्थ कैसे पेट में गैस की समस्या होने पर मददगार हो सके हैं।

1. नारियल पानी (Coconut water)

नारियल पानी का सेवन गैस की समस्या में असरदार माना गया है। यह इलेक्ट्रोलाइट्स का एक प्राकृतिक स्रोत होता है जोकि गैस की समस्या से राहत दिला सकता है खासकर कि अगर गैस की समस्या डिहाइड्रेशन की वजह से हुई हो। सबसे अच्छी बात तो यह है कि इसके सेवन से आमतौर पर किसी को कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होता है और इसे आसानी से कंज्यूम किया जा सकता है। हालांकि इसकी उचित मात्रा का सेवन ही किया जाना चाहिए अन्यथा समस्या को यह बढ़ा भी सकता है।

2. नींबू पानी (Warm water with lemon)

नींबू पानी सदियों से सेवन किया जाता रहा है। इसके सेवन का मुख्य उद्देश्य शहरी को ताजगी देने और हाइड्रेट रखने के लिए किया जाता रहा है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि गर्म पानी और नींबू का सेवन पेट में गैस या पेट फूलने की समस्या में भी किया जा सकता है? जी हां, आप हल्के गुनगुने गर्म पानी में नींबू का रस निचोड़ कर सेवन कर सकते हैं जोकि अवश्य ही समस्या से कुछ राहत दे सकता है। गर्म पानी समग्र पाचन और जलयोजन में मदद करता है, जबकि नींबू का रस भोजन को तोड़ने में सहायता कर सकता है।

3. अदरक की चाय (Ginger tea)

पेट फूलने या पेट में गैस होने की समस्या का निदान आसानी से तैयार होने वाले अदरक की चाय से भी किया जा सकता है। अदरक की चाय आसानी से तैयार भी हो जाती है और साथ ही यह पाचन तंत्र पर सकारात्मक प्रभाव भी डालती है। अदरक एक प्राकृतिक सूजनरोधी है जो पाचन तंत्र को शांत करने और सूजन को कम करने में मदद कर सकता है। आप ताजा अदरक को गर्म पानी में या अदरक की चाय की थैलियों में भिगोकर रख सकते हैं फिर सेवन कर सकते हैं।

4. पुदीने की चाय (Peppermint tea)

पुदीने की चाय भी पेट में गैस होने की समस्या को दूर करने में मददगार हो सकती है। खासतौर पर यह पेट में गैस होने की स्तिथि में होने वाले दर्द से तुरंत राहत दिलाने में असरदार मानी गई है। पुदीना में वातहर गुण होते हैं, जिसका अर्थ है कि यह पाचन की मांसपेशियों को आराम देने और गैस के दर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। साथ ही इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं जिसका अर्थ है कि इसके सेवन से आंतों या पाचन तंत्र में होने वाली सूजन को शांत करने में भी मदद मिलती है।

5. खूब सारा पानी (Drink enough water)

गैस की समस्या हो तो आपको अधिकाधिक पानी पीना चाहिए। खासतौर पर गर्म पानी आपके पाचन तंत्र को उत्तेजित करने में मदद कर सकता है। दरअसल होता यह है कि गर्मी भोजन के तापमान की नकल करती है और आपके शरीर को पाचन एंजाइमों और प्रक्रियाओं को सक्रिय करने के लिए संकेत देती है। इससे संभावित रूप से पाचन सुचारू हो सकता है और गैस का निर्माण कम हो सकता है। साथ ही पानी शरीर को हाइड्रेटेड रखने में भी मदद करता है जोकि सीधे तौर पर बेहतर पाचन से जुड़ा हुआ है।

 

पेट में गैस के घरेलू उपाय (Home remedies for stomach gas)

पेट में गैस के घरेलू उपाय कई हैं। जैसे कि आप जीरा पानी पी सकते हैं, हींग पीसकर मिलाकर पी सकते हैं, अदरक को नींबू के साथ खा सकते हैं आदि। आइए विस्तार से इन घरेलू उपायों के बारे में जानते हैं।

1. जीरा पानी पिएं (Drink cumin water)

गैस की समस्या से तुरंत छुटकारा पाना चाहते हैं तो आपको जीरा पानी का सेवन करना चाहिए। जीरे के बीज में थाइमोल नामक यौगिक होता है। माना जाता है कि थाइमोल पेट और अग्न्याशय से पाचन एंजाइमों के स्राव को उत्तेजित करता है। ये एंजाइम आसान अवशोषण के लिए प्रोटीन, वसा और शर्करा सहित भोजन के अणुओं को छोटे घटकों में तोड़ने में मदद करते हैं। इस बेहतर पाचन से आंत में गैस का निर्माण कम हो सकता है।

2. अदरक नींबू का एक साथ सेवन करें (Eat ginger lemon)

अदरक और नींबू रस का एक साथ सेवन करना भी पेट में गैस, पेट फूलना और गैस की वजह से होने वाले पेट दर्द की समस्या से राहत दिला सकता है। अदरक में जिंजरोल नामक यौगिक होता है, जिसमें सूजन-रोधी गुण होते हैं। पाचन तंत्र में सूजन गैस और सूजन में योगदान कर सकती है। जिंजरोल पाचन तंत्र को शांत करने में मदद कर सकता है तो वहीं नींबू के रस में मौजूद साइट्रिक एसिड पेट में पाचक रसों के उत्पादन को उत्तेजित कर सकता है। ये पाचक रस भोजन को अधिक कुशलता से तोड़ने में मदद करते हैं, जिससे गैस की समस्या कम हो जाती है।

3. अदरक और नमक का सेवन करें (Consume ginger with salt)

अगर पेट की गैस से तुरंत राहत पाना चाहते हैं तो आपको अदरक के टुकड़ों पर हल्का नमक छिड़ककर सेवन करना चाहिए। इसके लिए आप अदरक को छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें, तत्पश्चात उन टुकड़ों पर आप स्वादानुसार नमक को छिड़कर चबा सकते हैं। इन दोनों के सेवन से आंत और पेट की मांशपेशियों में आई सूजन कम होती है जोकि सीधे तौर पर गैस की समस्या को कम कर सकता है।

4. पानी में बेकिंग सोडा मिलाकर पीएं (Mix baking soda in water and drink)

पानी में बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से भी गैस की समस्या से राहत मिलती है और यह एक असरदार घरेलू उपाय है। आप एक गिलास पानी में आधा चम्मच बेकिंग सोडा को मिलाकर पी सकते हैं जिससे गैस की समस्या छूमंतर हो सकती है। दरअसल बेकिंग सोडा एक क्षार (base) है, अर्थात इसका प्रभाव अम्ल (acid) के विपरीत होता है। जब आप बेकिंग सोडा को पानी में घोलकर सेवन करते हैं, तो यह पेट के एसिड को बेअसर कर सकता है। यदि पेट में अतिरिक्त एसिड के कारण गैस और सूजन हो तो यह मददगार हो सकता है।

5. छाछ पिएं (Drink buttermilk)

वर्षों से पेट फूलने, पेट में गैस होने या गैस की वजह से पेट दर्द की समस्या को दूर करने के लिए छाछ का सेवन किया जाता रहा है। छाछ एक किण्वित डेयरी पेय है जिसमें किण्वन के दौरान बैक्टीरिया द्वारा उत्पादित लैक्टिक एसिड होता है। यह लैक्टिक एसिड पाचन एंजाइमों के समान कार्य करता है, जो लैक्टोज (दूध चीनी) और प्रोटीन जैसे खाद्य घटकों को तोड़ने में मदद करता है। यह पाचन को आसान बना सकता है और संभावित रूप से इसके कारण होने वाले गैस गठन को कम कर सकता है।

 

पेट में गैस हो तो क्या नहीं खाना चाहिए (What to avoid eating in stomach gas)

अगर पेट में गैस की समस्या हो तो क्या खाना चाहिए से भी अधिक जरूरी विषय है कि क्या नहीं खाना चाहिए। आखिर गैस की समस्या अनावश्यक और अस्वस्थ भोज्य पदार्थों के खाने की वजह से ही तो अवतरित हुई है। तो आइए जानते हैं कि इस समस्या में किन खाद्य पदार्थों से आपको दूरी बना लेनी चाहिए।


1. तले हुए भोजन (Fried food)

अगर आपको पेट में गैस या पेट फूलने की समस्या हो तो बिल्कुल भी तले हुए भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए। तले हुए खाद्य पदार्थों को पचाना मुश्किल होता है क्योंकि इनमें वसा अधिक और फाइबर कम होता है। तीन मैक्रोन्यूट्रिएंट्स में वसा सबसे धीमी गति से पचता है, और इसे तोड़ने के लिए पाचक रस और एंजाइम की आवश्यकता होती है। तले हुए खाद्य पदार्थ भी आंतों में बहुत तेजी से प्रवेश कर सकते हैं, जिससे दस्त हो सकते हैं, या पाचन तंत्र में बहुत लंबे समय तक रह सकते हैं, जिससे सूजन हो सकती है।


2. शर्करा युक्त भोज्य पदार्थ (Sugary foods)

गैस की समस्या को दूर करने के लिए आपको शर्करा युक्त भोज्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए। सोडा, जूस, कैंडी और शर्करा युक्त प्रसंस्कृत स्नैक्स सहित शर्करा युक्त पेय और खाद्य पदार्थ, गैस और सूजन में योगदान कर सकते हैं। चीनी आंत के बैक्टीरिया को पोषण देती है, जिससे उपोत्पाद के रूप में गैस का उत्पादन बढ़ जाता है। चीनी अल्कोहल, जो कुछ चीनी-मुक्त उत्पादों में पाए जाने वाले कृत्रिम मिठास हैं, कुछ लोगों में गैस का कारण भी बन सकते हैं। 


3. स्टार्चयुक्त खाना (Starchy foods)

अगर पेट में गैस की समस्या हो तो आपको ऐसे खाद्य पदार्थों से दूरी बना लेनी चाहिए जिनमें starch की प्रचुर मात्रा हो जैसे कि आलू, भुट्टा और पास्ता। कुछ लोगों के लिए स्टार्चयुक्त खाद्य पदार्थों को पचाना मुश्किल हो सकता है और इससे गैस बन सकती है। पाचन तंत्र स्टार्च को सही ढंग से पचाने में मुश्किलों का सामना करता है।


4. उच्च FODMAP खाद्य पदार्थ (High FODMAP foods)

FODMAP यानि fermentable oligosaccharides, disaccharides, monosaccharides, and polyols होता है और जिन खाद्य पदार्थों में इनकी मात्रा अधिक होती है, उनका सेवन गैस की समस्या में तो बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। छोटी आंत इन कार्बोहाइड्रेट को खराब तरीके से अवशोषित करती है, और कुछ लोगों को इन्हें खाने के बाद पाचन संबंधी परेशानी का अनुभव होता है। लक्षणों में शामिल हैं: ऐंठन, दस्त, कब्ज, पेट में सूजन और गैस। इसमें ब्रोकोली, सेब, तरबूज, गोभी, प्याज, गेहूं, राई जैसे खाद्य पदार्थ शामिल हैं।


5. पत्तेदार सब्जियां (Cruciferous vegetables)

हरी पत्तेदार सब्जियां शारीरिक स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होती हैं, लेकिन गैस की समस्या में बिल्कुल नहीं। अगर पेट में गैस बनने, पेट फूलने या गैस की समस्या में पेट दर्द की समस्या है तो आपको पत्तेदार सब्जियों का सेवन कदापि नहीं करना चाहिए। इन सब्जियों, जैसे ब्रोकोली, फूलगोभी, पत्तागोभी, ब्रसेल्स स्प्राउट्स और शतावरी में रैफिनोज़ नामक जटिल शर्करा होती है जिसे पचाना मुश्किल हो सकता है और आंत बाक द्वारा गैस उत्पादन का कारण बन सकता है।


गैस की रामबाण आयुर्वेदिक दवा (Best ayurvedic medicine for gas)

गैस की रामबाण आयुर्वेदिक दवा त्रिफला को माना जाता है क्योंकि इसमें तीन आयुर्वेदिक औषधियों का मिश्रण होता है जोकि हैं अमलाकी (एम्ब्लिका ऑफिसिनालिस), बिभीतकी (टर्मिनलिया बेलिरिका), और हरीतकी (टर्मिनलिया चेबुला)। यह गैस सहित विभिन्न पाचन समस्याओं के लिए एक लोकप्रिय आयुर्वेदिक उपचार है। माना जाता है कि त्रिफला पाचन में सुधार करता है, मल त्याग को नियंत्रित करता है और सूजन को कम करता है।

आयुर्वेद में स्वास्थ्य तीन दोषों (वात, पित्त, कफ) के संतुलन पर आधारित है। माना जाता है कि त्रिफला तीनों दोषों को संतुलित करता है, वात असंतुलन अक्सर गैस जैसी पाचन समस्याओं से जुड़ा होता है। गैस की समस्या अवतरित होने पर आपको आधा चम्मच त्रिफला चूर्ण को 1 गिलास गर्म पानी में मिलाकर पीना चाहिए। इससे पेट फूलने और गैस की समस्या से तुरंत राहत मिलेगी।


निष्कर्ष (Conclusion)

पेट में गैस हो तो आपको अदरक, दही, केला, पुदीना, नींबू, पपीता, गाजर, चावल, नाशपाती, खीरा जैसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए। इसके साथ ही पेय पदार्थों में नारियल पानी, अदरक की चाय, पुदीने की चाय, नींबू पानी और ढेर सारा पानी पीना फायदेमंद हो सकता है। घरेलू उपायों में जीरा पानी पीना, अदरक और नमक का सेवन करना, बेकिंग सोडा का सेवन करना, छाछ पीना और अदरक नींबू का एक साथ सेवन करना भी फायदेमंद होता है।

लेकिन ध्यान रखें कि पेट में गैस हो तो क्या खाना चाहिए से भी अधिक आवश्यक प्रश्न यह है कि क्या नहीं खाना चाहिए। इस समस्या को अगर आप बढ़ाना नहीं चाहते तो आपको स्टार्च युक्त भोजन, तले हुए खाद्य पदार्थ, पत्तेदार सब्जियां, उच्च FODMAP खाद्य पदार्थ और शर्करा युक्त भोज्य पदार्थ का सेवन कदापि नहीं करना चाहिए।


अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (Frequently Asked Questions)

1. पेट की गैस तुरंत दूर कैसे करें?

पेट की गैस तुरंत दूर करने के लिए आप छाछ या जीरा पानी का सेवन कर सकते हैं। इनके सेवन से पेट में गैस बनने की समस्या को तुरंत समाधान होता है और साथ ही पेट फूलने या पेट में दर्द की समस्या से भी राहत मिलती है।


2. गैस बनने का सबसे बड़ा कारण क्या है?

गैस बनने का सबसे बड़ा कारण आवश्यकता से अधिक भोजन करना या ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करना जोकि स्तर्चयुक्त हों, तले हों या जिनमें शर्करा की मात्रा अधिक हो। 


3. पेट की गैस को कैसे निकालें?

पेट की गैस को निकालने के लिए आपको हींग, जीरा और आजवाइन को भूनकर गर्म पानी में मिलाकर सेवन करना चाहिए। इससे पेट की गैस निकालने में मदद मिलती है। इसके सेवन से पाचन क्रिया में भी सुधार आता है।


4. पेट में गैस की समस्या को दवा क्या है?

पेट में गैस की समस्या की दवा का नाम त्रिफला है। क्योंकि इसमें तीन आयुर्वेदिक औषधियों का मिश्रण होता है जोकि हैं अमलाकी (एम्ब्लिका ऑफिसिनालिस), बिभीतकी (टर्मिनलिया बेलिरिका), और हरीतकी (टर्मिनलिया चेबुला)। यह गैस सहित विभिन्न पाचन समस्याओं के लिए एक लोकप्रिय आयुर्वेदिक उपचार है। माना जाता है कि त्रिफला पाचन में सुधार करता है, मल त्याग को नियंत्रित करता है और सूजन को कम करता है।


References

files/author_Dr.-Shailendra-Chaubey-BAMS_300x_3fb01719-6325-4801-b35b-3fb773a91669.jpg

Dr. Shailendra Chaubey, BAMS

Ayurveda Practioner

A modern-day Vaidya with 11 years of experience. He is the founder of Dr. Shailendra Healing School that helps patients recover from chronic conditions through the Ayurvedic way of life.

Popular Posts

Leave a comment

Please note, comments need to be approved before they are published.

आपके बाल झड़ने का कारण क्या है?

डॉक्टरों द्वारा डिज़ाइन किया गया Traya का मुफ़्त 2 मिनट का हेयर टेस्ट लें, जो आपके बालों के झड़ने के मूल कारणों की पहचान करने के लिए आनुवांशिक, स्वास्थ्य, जीवनशैली और हार्मोन जैसे 20+ कारकों का विश्लेषण करता है।

हेयर टेस्ट लेTM